Kaho Na Kaho Lyrics | Murder | Hindi Gana | Amir Jamal

Kaho Na Kaho Lyrics in Hindi were sung by Amir Jamal is from the album Murder. Sayeed Quadri writes the songMusic composed by Anu Malik. Anurag Basu directed the album.

Kaho Na Kaho Song Lyrics | Murder | Hindi Gana | Amir Jamal

Kaho Na Kaho Lyrics Hindi Song Credits:

SingerAmir Jamal
Music ComposerAnu Malik
AlbumMurder
Song WriterSayeed Quadri
DirectorAnurag Basu
StarcastEmraan Hashmi, Mallika Sherawat, Ashmit Patel
Music LabelSaReGaMa
Year of Release2004

Kaho Na Kaho Lyrics In English

Kaho na kaho yeh
Aankhen bolti hain
O sanam o sanam
O mere sanam

Mohabbat ke safar
Mein yeh sahaara hai
Vafa ke saahilon ka
Yeh kinaara hai

Kaho na kaho yeh
Aankhen bolti hain
O sanam o sanam
O mere sanam

Mohabbat ke safar
Mein yeh sahaara hai
Vafa ke saahilon ka
Yeh kinaara hai

Baadalon se
Oonchi uraanoon ki
Sab se alag
Pehechaanoon ki

Use hai pyaar ki
Kahaani mansoob
Aati jaati saanson
Ki rawaani mansoob

Baadalon se oonchi
Uraanoon ki
Sab se alag
Pehechaanoon ki

Use hai pyaar ki
Kahaani mansoob
Aati jaati saanson ki
Rawaani mansoob

Kaho na kaho yeh
Aankhen bolti hain
O sanam o sanam
O mere sanam

Mohabbat ke safar
Mein tu hamaara hai
Andhere raaston
Ka tu sitaara hai

Tu hi jeene ka sahaara hai
Meri maujon ka kinaara hai
Mere liye yeh jahaan hai tu
Tujhe mere dil ne pukaara hai

Kaho na kaho yeh
Saansein bolti hain
O sanam o sanam
O mere sanam

Labon pe naam
Tere bas hamaara hai
Yeh tera dil bhi
Jaana hamaara hai

Kaho na kaho yeh
Aankhen bolti hain
O sanam o sanam
O mere sanam

Mohabbat ke safar
Mein yeh sahaara hai
Vafa ke saahilon
Ka yeh kinaara hai

Khwaabon mein
Tujhko sanwaara hai
Jazbon mein
Apne utaara hai

Meri yeh aankhen
Jidhar dekhe
Tera hi chehra
Nazaara hai

Khwaabon mein
Tujhko sanwaara hai
Jazbon mein
Apne utaara hai

Meri yeh aankhen
Jidhar dekhe
Tera hi chehra
Nazaara hai

Khwaabon mein
Tujhko sanwaara hai
Jazbon mein
Apne utaara hai

Meri yeh aankhen
Jidhar dekhe
Tera hi chehra
Nazaara hai

Khwaabon mein
Tujhko sanwaara hai
Jazbon mein
Apne utaara hai

Meri yeh aankhen
Jidhar dekhe
Tera hi chehra
Nazaara hai.

Kaho Na Kaho Lyrics In Hindi

कहो ना कहो यह
आँखें बोलती हैं
ओ सनम ओ सनम
ओ मेरे सनम

मोहब्बत के सफर
में यह सहारा है
वफ़ा के साहिलों का
यह किनारा है

कहो ना कहो यह
आँखें बोलती हैं
ओ सनम ओ सनम
ओ मेरे सनम

मोहब्बत के सफर
में यह सहारा है
वफ़ा के साहिलों का
यह किनारा है

बादलों से
ऊंची ुराणून की
सब से अलग
पहचानूँ की

उसे है प्यार की
कहानी मंसूब
आती जाती सांसों
की रवानी मंसूब

बादलों से ऊंची
ुराणून की
सब से अलग
पहचानूँ की

उसे है प्यार की
कहानी मंसूब
आती जाती सांसों की
रवानी मंसूब

कहो ना कहो यह
आँखें बोलती हैं
ओ सनम ओ सनम
ओ मेरे सनम

मोहब्बत के सफर
में तू हमारा है
अँधेरे रास्तों
का तू सितारा है

तू ही जीने का सहारा है
मेरी मौजों का किनारा है
मेरे लिए यह जहां है तू
तुझे मेरे दिल ने पुकारा है

कहो ना कहो यह
साँसें बोलती हैं
ओ सनम ओ सनम
ओ मेरे सनम

लबों पे नाम
तेरे बस हमारा है
यह तेरा दिल भी
जाना हमारा है

कहो ना कहो यह
आँखें बोलती हैं
ओ सनम ओ सनम
ओ मेरे सनम

मोहब्बत के सफर
में यह सहारा है
वफ़ा के साहिलों
का यह किनारा है

ख़्वाबों में
तुझको संवारा है
जज़्बों में
अपने उतारा है

मेरी यह आँखें
जिधर देखें
तेरा ही चेहरा
नज़ारा है

ख़्वाबों में
तुझको संवारा है
जज़्बों में
अपने उतारा है

मेरी यह आँखें
जिधर देखें
तेरा ही चेहरा
नज़ारा है

ख़्वाबों में
तुझको संवारा है
जज़्बों में
अपने उतारा है

मेरी यह आँखें
जिधर देखें
तेरा ही चेहरा
नज़ारा है

ख़्वाबों में
तुझको संवारा है
जज़्बों में
अपने उतारा है

मेरी यह आँखें
जिधर देखें
तेरा ही चेहरा
नज़ारा है.

Kaho Na Kaho Lyrics Mera Gana Lyrics Download PDF

Listen to Kaho Na Kaho Lyrics In Hindi Gane

FAQ

Who is the singer of the Kaho Na Kaho song?

Kaho Na Kaho song was sung by Amir Jamal.

Who wrote the song Kaho Na Kaho?

The song Kaho Na Kaho is written by Sayeed Quadri.

Who is the music composer of the song Kaho Na Kaho?

The music of the song Kaho Na Kaho is composed by Anu Malik.

Must Listen and Read Lyrics:

Leave a Comment